डोंगरी पुलिस स्टेशन में सहायक पुलिस निरीक्षक के खिलाफ दर्ज हुआ केस।

0
36

30 वर्षीय महिला पुलिस अधिकारी ने सहायक पुलिस निरीक्षक संदीप पिसे नामक 32 वर्षीय के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाया है, महिला पुलिस अधिकारी ने अपनी शिकायत में बताया के संदीप पिसे ने उनके साथ शादी का वादा किया और उनकी ज़िंदगी बर्बाद कर दी, शिकायत कर्ता महिला ने यह भी दावा किया है के वो नीची जाति से है इसलिए संदीप की मां अलका और भाई सागर इन दोनो ने मिलकर संदीप की शादी कहीं और करवा दी, दरसल कुछ महीने पहले कफपरेड में कार्यरत सब इंस्पेक्टर संदीप पिसे को परमोशन मिलने के बाद उसकी बदली पुणे शेहर में बतौर सहायक पुलिस अधिकारी के रूप में हो चुकी थी, जिसके बाद पीड़ित महिला और संदीप दोनो अलग अलग हो चुके थे, आपको बता दें के ये दूरियां सिर्फ नाम की थी, मोबाइल फ़ोन, व्हाट्सएप के जरिये दोनो में ब दस्तूर बातें होती रहती, करीब एक महीने पहले ही एक दिन अचानक संदीप ने फ़ोन पर कहा कि उसकी माँ को कोरोना पोसेटिव रिपोर्ट आई है इसलिए उसे अपनी माँ की देख-भाल करने की ज़रूरत है, उसने महिला से कहा कुछ दिनों के लिए तुम मुझे फ़ोन और मैसेज मत करना, मगर सच बिल्कुल अलग था, सच तो ये था के खुद की शादी के लिए झूट बोलकर संदीप अपने घर चला गया था, शादी से बिल्कुल अंजान जब पीड़ित महिला को सही जानकारी मिली तो तुरंत महिला व उनके परिवार ने संदीप व उसकी माँ से मिलकर बात करने की कोशिश की लेकिन संदीप की माँ व उनके अन्य कुछ परिवार वालों ने मिलकर पीड़ित परिवार को गाली गलौज देते हुए मारपीट जैसे मामले को अंजाम दे दिया, फिलहाल महिला पुलिस अधिकारी द्वारा दायर शिकायत के अनुसार वह साल 2013 में पुलिस डिपार्टमेंट से जुड़ी थी और अपनी परीक्षा व ट्रेनिंग समाप्त करने के बाद उसे डोंगरी पुलिस स्टेशन में महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर बनाकर भेजा गया था, पीड़ित के पहले से संदीप पिसे वहां तैनात था, शिकायत कर्ता के अनुसार डिपार्टमेंट द्वारा जब महिला को पुलिस क्वार्टर में रहने की जगह दी गई थी, जहाँ पीड़ित अकेले एक कमरे में रहती थी और उसके पड़ोस वाले मकान में संदीप पिसे व उसका रूम पार्टनर पुलिस अधिकारी रहता था, एक ही पुलिस स्टेशन में ड्यूटी और पड़ोसी होने का फायदा उठाकर आरोपी पिसे ने धीरे-धीरे महिला के करीब जाना शुरू किया, लेकिन जब महिला ने ऐतराज़ किया तो पिसे ने अपना मकसद पूरा करने के लिए महिला अधिकारी को शादी का झूठा प्रस्ताव दे डाला, महिला ने शादी की बात सुनकर संदीप से कहा उसे सोचने के लिए कुछ वक़्त चाहिए, ईसी दौरान महिला पुलिस शादी करने को तैयार हो गई, इसके बाद दोनों ने अपने पुलिस स्टेशनों के बाहर और यहां तक ​​कि डिपार्टमेंट द्वारा प्राप्त कमरे में एक दूसरे से मुलाकात शुरू कर दी, दिनांक 1 जनवरी 2014 को आरोपी ने महिला पुलिस के कमरे में प्रवेश किया था और अपनी मीठी-मीठी बातों में उलझाकर शारीरिक संबंध बनाकर इस्तेमाल किया था, पिछले 7 सालों से लगातार झूट को बर्दास्त कर रही व शारीरिक इस्तेमाल हो रही पीड़िता ने आखिरकार शुक्रवार दिनांक 16 एप्रिल 2021 को खुद पुलिस अधिकारी होते हुए इंसाफ पाने की खातिर डोंगरी पुलिस स्टेशन का दरवाजा खटखटाया और आप बीति सुनाते हुए आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज करवाया है, पीड़िता ने रेप, धोखा-धड़ी, धमकी और मारपीट करने के अलावा एट्रोसिटी एक्ट की धाराओं के तहत केस दर्ज कराया है, वहीं डोंगरी पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला द्वारा दिये गए स्टेटमेंट के आधार पर आरोपी पुलिस अधिकारी संदीप के अलावा उसकी माँ और भाई के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here